ग्रहदृष्टी सूर्यसिद्धान्तीय पंचांग नागपूर २८ दिसंबर २०२०

Share This News

!!श्री रेणुका प्रसन्न!!
धर्मशास्त्रसंमत प्राचीन शास्त्रशुद्ध ग्रहदृष्टी सूर्यसिद्धांतीय पंचांग नागपूर नुसार दिनांक २८ दिसंबर २०२०
राष्ट्रीय भारतीय सौर दिनांक पौष ७ शके १९४२

☀ सूर्योदय -०६:४८
☀ सूर्यास्त -१७:४२
🌞 चंद्रोदय – १६:२०
⭐ प्रात: संध्या – सु.०५:५० से सु.०७:०९
⭐ सायं संध्या –  १८:०३ से १९:२२
⭐ अपरान्हकाल – १३:४२ से १५:५३
⭐ प्रदोषकाल – १८:०३ से २०:४१
⭐ निशीथ काल – २४:१० से २५:०३
⭐ राहु काल – ०८:३१ से ०९:५३
⭐ यमघंट काल – ११:१५ से १२:३६
⭐ श्राद्धतिथी –  चतुर्दशी श्राद्ध
👉 सभी कामों के लिये प्रतिकूल दिन है !
👉 *कोईभी महत्त्वपूर्ण काम सु.१०:०४ से सु.११:१५ इस समय में करने से कार्यसिद्धी होगी.✅
**इस दिन शहद का सेवन मत किजीए! 🚫
**इस दिन श्वेत वस्त्र परिधान किजीए!
♦️ लाभदायक–>>
लाभ मुहूर्त– १५:२० से १६:४२ 💰💵
अमृत मुहूर्त–  १६:४२ से १८:०३ 💰💵
👉विजय मुहूर्त— १४:२५ से १५:०८
पृथ्वीप अग्निवास नहीं 🔥
चंद्र मुख में आहुती है!
शिववास भोजन में ,काम्य शिवोपासना के लिये प्रतिकूल दिन है!
शालिवाहन शके -१९४२
संवत्सर – शार्वरी
अयन – दक्षिणायन
ऋतु – हेमंत (सौर)
मास – मार्गशीर्ष
पक्ष – शुक्ल
तिथी – चतुर्दशी(अहोरात्र)
वार – सोमवार
नक्षत्र – रोहिणी(१५:४७ प.नं.मृग)
योग – शुभ(१६:५८ प.नं.शुक्ल)
करण – गरज(१८:३८ प.नं.वणिज)
चंद्र राशी – वृषभ (२८:४७ नं.मिथुन)
सूर्य राशी – धनु
गुरु राशी – मकर
पंचांगकर्ते ज्योतिषरत्न पंचांगभूषण पं देवव्रत बूट ९४२२८०६६१७
विशेष :- पाषाणचतुर्दशी व्रत, सर्वार्थसिद्धियोग(अहोरात्र), रवियोग १५:४७ प.
👉 इस दिन पानी में दूध डालकर स्नान किजीए !
👉 शिवकवच स्तोत्र का पाठ किजीए!
👉 ‘सों सोमाय नम:’ इस मंत्र का कम से कम १०८ बार जाप किजीए!
👉  संध्या के समय भगवान महादेव को श्रीखंड का भोग लगाईए!
👉  सत्पात्री व्यक्ती को चावल दान किजीए!
👉 दिशाशूल पूर्व दिशा में होने से पूर्व दिशा की यात्रा वर्ज्य किजीए अथवा यात्रा के लिये घर से बाहर निकलते समय दूध प्राशन कर के बाहर निकलने से ग्रहों की अनुकूलता प्राप्त होगी !
👉 चंद्रबल:- वृषभ,कर्क,सिंह, वृश्चिक,धनु,मीन इन राशी के जातकों को दिनभर चंद्रबल अनुकूल है!

आपका दिन सुखमय हो, मन प्रसन्न रहे !

(कृपया उपर्निदीष्ट पंचांग को पंचांगकर्ता के नाम के साथस ही अथवा नाम बिलकुल बदल किए बिना शेअर कीजीए ! इस छोटीसी कृती से तात्त्विक आनंद और नैतिक समाधान मिलता है! किसी भी प्रकार से नाम में बदलाव करने पर कानूनन कार्रवाई हो सकती है ! @copyright. यह पंचांग संदेश केवल सर्वसामान्य लोगों के लिए एक सुविधा है ! विशेष कार्य संकल्प के लिये सूक्ष्म घटीका और धर्मशास्त्रीय अधिक जानकारी के लिए ग्रहदृष्टी सूर्यसिद्धांतीय पंचांग नागपूर मुद्रीत प्रत देखिए.धन्यवाद!)


Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2020-21 Maharashtra Telecommunications Shankhnaad News Network, All rights Reserved | Site by final Version Software Solutions Pvt. Ltd.